भारत में परिवहन transport in India और उसके प्रकार

भारत में परिवहन (Transport in India)

भारत के सड़क परिवहन में ‘बनाओ, चलाओ और हस्तांतरित करो’ की नीति क्यों अपनाई गयी ? GT रोड किसे कहते है ? प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क्या है ? भारत में वायु परिवहन की शुरुआत कब हुई ?  भारतीय रेल परिवहन का राष्ट्रीयकरण कब हुआ ? दिल्ली मेट्रो रेल सेवा कब शुरू की गयी ? भारत में परिवहन प्रणाली pdf में हमने इन सभी सवालों का जवाब देते हुए भारत में जल परिवहन, वायु परिवहन, सड़क परिवहन और रेल परिवहन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी है। तो चलिए शुरु करते है –  

भारत में परिवहन transport in India और उसके प्रकार
भारत में परिवहन transport in India और उसके प्रकार

सड़क परिवहन

भारत का लगभग 52.32 लाख किलोमीटर का सड़क नेटवर्क विश्व का दूसरा सबसे बड़ा सड़क नेटवर्क है, जिसमे राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य राजमार्ग एवं अन्य सड़कें शामिल है।

राष्ट्रीय राजमार्ग :

इसके निर्माण, प्रबंधन एवं रख-रखाव की जिम्मेदारी भारत सरकार द्वारा निभायी जाती है। इसका नियंत्रण केंद्रीय लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाता है। आर्थिक-समीक्षा 2015-2016 ईस्वी के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग की कुल लम्बाई 1 लाख 475 किलोमीटर है यह सम्पूर्ण देश के सड़कों के कुल लम्बाई का लगभग 1.9 % है जो सड़क परिवहन का लगभग 40 % यातायात सम्पन्न करती है।

  1. भारत का सबसे लम्बा राष्ट्रीय राजमार्ग-7 है जो उत्तर प्रदेश में 128 किलोमीटर, मध्य प्रदेश में 504 किलोमीटर, महाराष्ट्र में 232 किलोमीटर, आंध्रप्रदेश में 753 किलोमीटर, कर्नाटक में 125 किलोमीटर, तमिलनाडु में 627 किलोमीटर लम्बा है। इसकी कुल लम्बाई 2369 किलोमीटर है।
  2. राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1 और 2 को सम्मिलित रूप से ग्रैंड ट्रंक रोड (G.T.Road) कहा जाता है।
  3. राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1A में जवाहर सुरंग स्थित है। यह राजमार्ग जालंधर से जम्मू व् श्रीनगर होते हुए उरी तक जाती है। जम्मू व श्रीनगर को जोड़ने वाले बनिहाल दर्रे में ही जवाहर सुरंग स्थित है।
  4. भारत का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग 47-A (लम्बाई 6 Km) है। यह केरल के बेम्बानद झील में स्थित वेलिंगटन द्वीप में है।
  5. राष्ट्रीय राजमार्ग-15 राजस्थान के मरुस्थल से होकर गुजरता है।
  6. स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अंतर्गत 5846 Km, लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा चार महानगरों दिल्ली, मुंबई, चेन्नई व् कोलकाता को जोड़ा गया है।
  7. राष्ट्रीय राजमार्ग विकास कार्यक्रम के अंतर्गत बनने वाली उत्तर दक्षिण गलियार से श्रीनगर को कन्याकुमारी से तथा पूर्व-पश्चिम गलियारा से सिलचर को प्रबंध से जोड़ा जायेगा। इसकी कुल लम्बाई 7522 Km है।
कुछ प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्ग  
राष्ट्रीय राजमार्गकहाँ से कहाँ तककुल लम्बाई (Km)
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-1दिल्ली-पाक सीमा1226
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-2दिल्ली-कोलकाता1490
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-3आगरा-मुंबई1161
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-4मुंबई-चेन्नई1415
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-5कोलकाता-चेन्नई1610
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-6कोलकाता-मुंबई1945
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-7वाराणसी-कन्याकुमारी2369
राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-8दिल्ली-जयपुर-मुंबई 2058
राष्ट्रीय राजमार्ग

राज्य राजमार्ग :

इसका निर्माण एवं रख-रखाव की जिम्मेवारी राज्य सरकार की होती है। राज्यों के राजमार्ग की लम्बाई वर्तमान में 1 लाख 42 हजार 687 Km है।

  1. भारत में सड़को का सर्वाधिक घनत्व केरल (5268.69 Km प्रति 1000 वर्ग Km क्षेत्रफल) में तथा सबसे कम जम्मू-कश्मीर में है। केंद्र शासित प्रदेशों में सर्वाधिक सड़क घनत्व दिल्ली (19931.89 Km प्रति 1000 वर्ग Km क्षेत्रफल) तथा दूसरा स्थान चंडीगढ़ का है।
  2. सड़क निर्माण क्षेत्र में निजी भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने “बनाओ, चलाओ और हस्तांतरित करो” की नीति अपनाई।
  3. माल परिवहन का लगभग 65% और यात्री परिवहन का 80% सड़को से ही होता है।
  4. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 500 की आबादी वाले सभी गाँवो को बारहमासी सड़कों से जोड़ना है।
  5. विश्व का सबसे ऊँचा सड़क मार्ग लेह-श्रीनगर मार्ग है, जो कराकोरम दर्रे को पर करता है। इसकी ऊंचाई लगभग 3450 मीटर है। (2006 में इसे राष्ट्रीय राजमार्ग 1D घोषित किया गया)
  6. एशिया का सबसे बड़ा रोप वे (रज्जुमार्ग) गढ़वाल में जोशीमठ एवं आली को जोड़ता है, जिसकी लम्बाई 500 मीटर है।
                   भारत का सड़क जाल  
सड़क वर्गलम्बाई (Km)कुल सड़क लम्बाई का प्रतिशत
राष्ट्रीय राजमार्ग100475 1.92
राज्यों के राज्यमार्ग148256 2.83
अन्य सड़के498357995.24
कुल5232310100

रेल परिवहन 

  1. भारतीय रेल एशिया की सबसे बड़ी तथा विश्व की दूसरी सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है।
  2. भारत में सर्वप्रथम रेल व्यवस्था की शुरुआत अप्रैल, 1853 में मुम्बई से थाणे (34 Km) के बीच प्रारम्भ हुई थी।
  3. विश्व की सबसे पहली रेलगाड़ी 1825 ईस्वी में लिवरपूल से मैनचेस्टर के बीच चली थी।
  4. भारतीय रेलवे बोर्ड की स्थापना मार्च, 1905 ईस्वी में की गयी थी।
  5. रेल वित्त को वर्ष 1924-25 ईस्वी के बाद एटवर्थ कमिटी की सिफारिश पर सामान्य राजस्व से अलग किया गया।  भारतीय रेल का राष्ट्रीयकरण 1950 ईस्वी में हुआ।
  6. भारतीय रेल प्रशासन तथा प्रबंध की जिम्मेवारी रेलवे बोर्ड पर है। रेलवे को 17 मंडलो में (जो पहले 9 था) बाँटा गया है। प्रत्येक मंडल का प्रधान महाप्रबन्धक होता है।
  7. देश में सबसे लम्बी दुरी तय करने वाली रेलगाड़ी विवेक एक्सप्रेस (नवंबर 2011) है, जो डिब्रूगढ़ (असम) से कन्याकुमारी (तमिलनाडु) तक जाती है। इस दौरान वह 4286 Km दुरी तय करती है। इससे पूर्व हिमसागर एक्सप्रेस जो जम्मू-तवी से कन्याकुमारी (3726 Km) जाती है, सबसे लम्बी दुरी तय करने वाली रेलगाड़ी थी।
  8. नई दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन व् आगरा कैंट स्टेशन के बीच 5 अप्रैल, 2016 से चलाई गयी गतिमान एक्सप्रेस देश में सर्वाधिक गति से चलने वाली रेलगाड़ी है। यह दोनों स्टेशनों के बीच की दुरी 100 मिनट में तय करने के लिए 160  Km/h तक की गति प्राप्त करती है। इस रेलगाड़ी में एयर होस्टेस की तर्ज पर रेल परिचारिकाओं की तैनाती सभी कोचों में की गयी है। इसके पहले सबसे तेज रफ्तार वाली रेलगाड़ी दिल्ली-भोपाल शताब्दी थी।
  9. विश्व का सबसे लम्बा रेलमार्ग ट्रांस-साईबेरियम रेलमार्ग है, जो लेनिनग्राड से ब्लाडीवास्टक   तक 9438 Km लम्बा है।
  10. भारतीय रेल व्यवस्था के अंतर्गत 31 मार्च, 2015 ईस्वी तक कुल 66030 Km लम्बा रेलमार्ग बिछा हुआ था। इसमें दोहरा/ बहुपथ रेलमार्ग की लम्बाई 20633 Km एवं विद्युतकृत रेलमार्ग की लम्बाई 22224 Km है।
  11. बिजली से चलने वाली प्रथम गाड़ी डेक्कन क्वीन थी, जो बंबई एवं पुणे के मध्य चली थी।
 भारत के रेल-मंडल एवं उनके मुख्यालय  
रेल-मंडलमुख्यालय
1. उत्तर रेलवेनई दिल्ली
2. दक्षिणी रेलवेचेन्नई
3. मध्य रेलवेमुंबई
4. द. पूर्व रेलवेकोलकाता
5. उ. पूर्वी सी. रेलवेमालेगांव
6. उ. मध्य रेलवेइलाहबाद
7. द.प. रेलवेहुबली
8. पूर्व. तट. रेलवेभुवनेश्वर
9. पश्चिम रेलवेचर्च गेट मुंबई
10. पूर्व रेलवेकोलकाता
11. द. मध्य रेलवेसिकंदराबाद
12. पूर्वोत्तर रेलवेगोरखपुर
13. पूर्व-मध्य रेलवेहाजीपुर
14. प. मध्य रेलवेजबलपुर
15. उ. प. रेलवेजयपुर
16. द. पूर्व-मध्यबिलासपुर
17.  कोलकाता मेट्रो रेलकोलकाता
 भारत के रेल-मंडल एवं उनके मुख्यालय  

कोंकण रेलवे : यह महाराष्ट्र के रहा से प्रारंभ होकर गोवा के मडगाँव तक जाती है। इसकी ट्रैक की लम्बाई 741 Kmकूयुब है। इस रेलमार्ग पर पहली बार रेल परिचालन 26 जनवरी, 1998 ईस्वी को हुआ। इस रेलमार्ग से लाभान्वित होने वाले राज्य महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक एवं केरल है। कोलकाता मेट्रो रेल : 1972 ईस्वी में बनी यह योजना 1975 ईस्वी से अम्ल में आयी। दमदम से टालीगंज तक इस भुगत रेलमार्ग की कुल लम्बाई 16.45 Km है। कोलकाता मेट्रो रेल की शुरुआत 24 अक्टूबर, 1984 ईस्वी को हुई। दिल्ली मेट्रो रेल : यह परियोजना जापान व कोरिया की कंम्पनियों के सहयोग से बनाई गयी है। इसके अंतर्गत सबसे पहली रेल सेवा 25 दिसंबर, 2002 ईस्वी को तीस हजारी से शाहदरा के बीच चलाई गयी।

बंगलुरु मेट्रो रेल : 
इसकी शुरुआत 20 अक्टूबर, 2011 ईस्वी से नम्मा मेट्रो के नाम से सुरु हुई। इसके ढांचागत सुविधाओं का विकास जापान के सहयोग से किया गया है।
मुंबई मेट्रो रेल : 
इसकी शुरुआत 8 जून, 2014 को हुई

  • जयपुर एवं चेन्नई में भी मेट्रो रेल की सेवा शुरु हो गयी है।
  • विश्व की पहली मेट्रो रेल लंदन में चली थी, जिसकी शुरुआत 10 मई, 1963 ईस्वी को हुई। यह विश्व की दूसरी सबसे लम्बी मेट्रो ट्रैन है। इसकी लम्बाई 402 Km है। चीन की शंघाई मेट्रो विश्व की सबसे लम्बी मेट्रो ट्रैन है, इसकी कुल लम्बाई 434 Km है।
  • रेल इंजन निम्न के कारखाने चित्तरंजन, वाराणसी तथा भोपाल में स्थित है। सवारी डिब्बों का निर्माण पेरंबूर (चेन्नई के निकट), कपूरथला, कोलकाता तथा बंगलुरु में।  रेल इंजन बनाने का नया कारखाना मधेपुरा (इलेक्ट्रिकल इंजन) एवं मढ़ौरा (डीज़ल इंजन) बिहार में स्थापित किया गया है। पहिया बनाने का कारखाना छपरा (बिहार) एवं रेल कोच फैक्ट्री रायबरेली (उत्तर प्रदेश) में स्थापित किया गया है।

वायु परिवहन

1933 ईस्वी में इंडियन नेशनल एयरबेज कं. की स्थापना हुई। 1953 ईस्वी में सभी वैमानिक कम्पनियो का राष्ट्रीयकरण करके उन्हें दो नवनिर्मित निगमों के अधीन रखा –

  1. भारतीय विमान निगम
  2. एयर इंडिया

भारतीय विमान निगम देश के आंतरिक भागों के निकट समीपवर्ती देश नेपाल, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, मालदेव, म्यांमार व् अफगानिस्तान को सेवाएं उपलब्ध करता है। एयर इंडिया विदेशों के लिए सेवाएं उपलब्ध करता है।

  • भारत में वायु परिवहन की शुरुआत 1911 ईस्वी में हुई, जब इलाहबाद से नैनी के बीच विश्व की सर्वप्रथम विमान डाक सेवा का परिवहन किया गया। 1981 ईस्वी में देश में घरेलू उड़ान के लिए वायुदूत नामक तीसरे निगम की स्थापना की गयी थी, जिसका बाद में भारतीय विमान निगम में विलय हो गया।
  • 24 अगस्त, 2007 ईस्वी को सार्वजनिक क्षेत्र की विमानन कम्पनियाँ अब नेशनल एविएशन कम्पनी आफ इंडिया लिमिटेड (NACIL) के नाम से कार्यरत हो गयी है। कम्पनी का ब्रांड नाम एयर इंडिया है।
  • भारतीय विमानपत्तनम प्राधिकरण का गठन 1 अप्रैल, 1995 ईस्वी को किया गया था। प्राधिकरण देश में अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे, घरेलू हवाई अड्डे और नागरिक विमान टर्मिनलों का प्रबंध करता है।

जल परिवहन

केंद्रीय अंतर्देशीय जल मार्ग प्राधिकरण की स्थापना 1987 ईस्वी में की गयी थी। इसका मुख्यालय कोलकाता में है। देश के जलमार्गों को दो भागों में बाँटा गया है –

  1. आंतरिक जलमार्ग : यह परिवहन नदियों, नहरों एवं झीलों के द्वारा होता है। हल्दिया से इलाहाबाद तक जलमार्ग को 22 अक्टूबर, 1986 ईस्वी को राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या 1 घोषित किया गया है।
  2. सामुद्रिक जलमार्ग : इस दृष्टि से भारत का सम्पूर्ण प्रायद्वीपीय तटीय भाग काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। देश की मुख्य भूमि की 5600 Km लम्बी तटरेखा पर 13 बड़े व 185 छोटे व मंझोले बंदरगाह स्थित है।
                   राष्ट्रीय जलमार्ग
जलमार्ग कहाँ से कहाँ तकलम्बाई (Km)
एन. डब्ल्यू – 1इलाहबाद से हल्दिया1620 
एन. डब्ल्यू – 2सादिया से धुबरी पट्टी891 
एन. डब्ल्यू – 3कोल्ल्म से कोट्टापुरम205 
एन. डब्ल्यू – 4काकीनाडा से मरक्कानम1095 
एन. डब्ल्यू – 5तलचर से धमरा623
एन. डब्ल्यू – 6लखीपुर से भांगा121 
  • देश का सबसे बड़ा बंदरगाह मुंबई में है। बड़े बंदरगाहों का नियंत्रण केंद्र सरकार करती है, जबकि छोटे बंदरगाह संविधान की समवर्ती सूची में शामिल है, जिनका प्रबंधन संबंधित राज्य सरकार करती है।
  • देश का सर्वश्रेष्ठ प्राकृतिक बंदरगाह विशाखापत्तनम है। यह भारत का सबसे गहरा बंदरगाह है।
  • गुजरात स्थित कांडला एक ज्वारीय बंदरगाह है। यह मुक्त व्यापार-क्षेत्र वाला बंदरगाह है।
  • चेन्नई एक कृत्रिम बंदरगाह है। यह भारत का सबसे प्राचीन बंदरगाह है।
  • कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड की स्थापना 1972 ईस्वी में हुई थी। इसका मुख्यालय कोच्ची (केरल) है। यह देश का जहाज निर्माण और मरम्मत का सबसे बड़ा क्षमता वाला शिपयार्ड है।
  • दाहेज (गुजरात) देश का प्रथम बंदरगाह है, जो रासायनों के निपटान हेतु स्थापित किया गया है। इसलिए इसे रसायन बंदरगाह नाम दिया गया है।
                 भारत के प्रमुख बड़े बंदरगाह
नामराज्य/ केंद्र शासित प्रदेशनदी/ खाड़ी एवं समुद्र
1. कोलकातापश्चिम बंगालहुगली नदी
2. मुंबईमहाराष्ट्रअरब सागर
3. चेन्नईतमिलनाडुबंगाल की खाड़ी    
4. कोच्चीकेरलअरब सागर
5. विशाखापत्तनमआंध्रप्रदेशबंगाल की खाड़ी    
6. पारादीपओडिशाबंगाल की खाड़ी    
7. तूतीकोरिनतमिलनाडुबंगाल की खाड़ी  
8. मार्मागोवागोवाअरब सागर
9. कांडलागुजरातअरब सागर
10. न्यू मंगलुरुकर्नाटकअरब सागर
11. न्हावाशेवामहाराष्ट्रअरब सागर
12. एन्नौरतमिलनाडुबंगाल की खाड़ी    
13. पोर्ट ब्लेयरअंडमानबंगाल की खाड़ी    
                 भारत के प्रमुख बड़े बंदरगाह

अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ share कर सकते है। ऐसे ही educational टॉपिक की update पाने के लिए आपको हमारी वेबसाइट को subscribe/ follow करना होगा। आप टॉपिक से संबंधित जानकारी के लिए comment भी कर सकते है।